जन संदेश

पढ़े हिन्दी, बढ़े हिन्दी, बोले हिन्दी .......राष्ट्रभाषा हिन्दी को बढ़ावा दें। मीडिया व्यूह पर एक सामूहिक प्रयास हिन्दी उत्थान के लिए। मीडिया व्यूह पर आपका स्वागत है । आपको यहां हिन्दी साहित्य कैसा लगा ? आईये हम साथ मिल हिन्दी को बढ़ाये,,,,,, ? हमें जरूर बतायें- संचालक .. हमारा पता है - neeshooalld@gmail.com

Wednesday, October 1, 2008

गांधीगीरी , प्रेमभाव बाटता ईद का त्यौहार(मुबारकबाद) , भूल रहे शास्त्री को ? साथ ही रहें सावधान


२ अक्तूबर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का जन्म दिवस । संपूर्ण विश्व इस दिवस को 'विश्व शांति दिवस ' के रूप में मना रहा है । अहिंसा और सत्य के इस पुजारी को शत-शत नमन ।

२ अक्तूबर को ही हमारे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी का भी जन्म दिवस है । शास्त्री जी अपने मूल्यों और कार्यों के लिए हमेशा याद किये जायेगें । जो एक सामान्य परिवार के थे। मुझे लगता है कि ब्लागर समूह आज इस व्यक्तित्व को भूल रहा है। कई लेख आज गांधी जी से जुड़ा हुआ दिखा पर शास्त्री जी पर कहीं कुछ भी नहीं । ऐसा क्यों?

आपस में भाई-चारे और प्रेम का परिचायक ईद का त्यौहार इस बार २ अक्तूबर को ही है । देश वासियों को ईद की ढ़ेर सारी बधाई ।आपस में बैर भाव को खत्म करता यह त्यौहार हिन्द की एकता की मिसाल कायम करता है । सभी धर्म एवं जाति के लोग मिलकर आपस में यह त्यौहार मना रहें है।

चौथी बात जो कि मुझे बहुत ही अच्छी लगी वह है । स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आज से सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान निषेध कर दिया है । अब इस कानून को हमें अमल में लाना है । अन्यथा २०० का चूना लग सकता है ।
चेतावनी-
भारत को हाल ही में कई बम हमले झेलने पड़े है । हमारा यह त्यौहार खुशियों भरा और सौहार्द्रपूर्ण महौल में इसके लिए सभी सतर्क रहें । कहीं कोई अप्रिय घटना न हो ऐसा सभी लोग प्रयास करे ।

7 comments:

राजीव रंजन प्रसाद said...

सारगर्भित आलेख है..बधाई स्वीकारें।

रौशन said...

अह्निसा दिवस की शुभकामनाएं
आपने शास्त्री जी को याद कर लिया तो शुरुआत हो ही गई
साझी खुशियों पर साझी समझ का विकास हो सके ऐसी हमारी कामना है

अविनाश वाचस्पति said...
This comment has been removed by the author.
अविनाश वाचस्पति said...

इसे ही कहते हैं
एक पंथ चार काज
गांधी जयंती
शास्‍त्री जयंती
ईद मुबारक और
चौथी सतर्कता।

परमजीत बाली said...

सही कहा है जी सब को गाँधी जी तो याद है लेकिन शास्त्री जी को बहुदा हमारे नेता लोग भी भूल जाते हैं।

आप सभी को गाँधी जी शास्त्री जी व ईद की बहुत बहुत बधाई।

BrijmohanShrivastava said...

बहुत अच्छी बात कही है किसी को याद रखना किसी को भूल जाना यही जमाने की रफ्तार है

Udan Tashtari said...

बढ़िया आलेख...शुभ दिवस की बधाई एवं शुभकामनाऐं.