जन संदेश

पढ़े हिन्दी, बढ़े हिन्दी, बोले हिन्दी .......राष्ट्रभाषा हिन्दी को बढ़ावा दें। मीडिया व्यूह पर एक सामूहिक प्रयास हिन्दी उत्थान के लिए। मीडिया व्यूह पर आपका स्वागत है । आपको यहां हिन्दी साहित्य कैसा लगा ? आईये हम साथ मिल हिन्दी को बढ़ाये,,,,,, ? हमें जरूर बतायें- संचालक .. हमारा पता है - neeshooalld@gmail.com

Tuesday, March 10, 2009

होली है आज , होली है आज

रंग चढ़त है यौवन पर

करत रही अठखेल

गोपियां ढूढत श्याम को

चहुँ दिस चारों ओर,


रंग मलत हैं मुख पर,


प्रेम देत बरसाय

श्याम देख मुस्कात हैं,

भीगत तन मन आज,


ऊपवन,जीवन रंग रहा,

बरसाने में आज,

ढोल मंजीरे बज रहे ,

खुशियों का त्यौहार,


सब मुख से निकरत है

बस एक ही बात,

न छोड़गें श्याम को,

होली है आज , होली है आज।।



{मीडिया व्यूह की तरफ से आपको रंगों के पर्व होली की लख लख बधाईयां । }

मस्ती से मनाओ ,

प्यार में रंग जाओ,


पियों जरा सभंलकर,

करना जरा विचार ।।

7 comments:

SWAPN said...

mazedaar hai bhai holi ka aapka ye rang. holi ki shubhkaamnaon ke saath.

SWAPN said...

mazedaar hai bhai holi ka aapka ye rang. holi ki shubhkaamnaon ke saath.

समयचक्र - महेन्द्र मिश्र said...

होली पर्व की हार्दिक ढेरो शुभकामना

राज भाटिय़ा said...

आपको और आपके परिवार को होली की रंग-बिरंगी ओर बहुत बधाई।
बुरा न मानो होली है। होली है जी होली है

Bahadur Patel said...

आपको और आपके परिवार को होली मुबारक

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर ... होली की ढेरो शुभकामनाएं।

Udan Tashtari said...

बढ़िया...


आपको होली की मुबारकबाद एवं बहुत शुभकामनाऐं.
सादर
समीर लाल