जन संदेश

पढ़े हिन्दी, बढ़े हिन्दी, बोले हिन्दी .......राष्ट्रभाषा हिन्दी को बढ़ावा दें। मीडिया व्यूह पर एक सामूहिक प्रयास हिन्दी उत्थान के लिए। मीडिया व्यूह पर आपका स्वागत है । आपको यहां हिन्दी साहित्य कैसा लगा ? आईये हम साथ मिल हिन्दी को बढ़ाये,,,,,, ? हमें जरूर बतायें- संचालक .. हमारा पता है - neeshooalld@gmail.com

Wednesday, April 7, 2010

एक जवान = १० लाख (हो सकता है ये भी न मिले ) .....सरकार aap सो जाओ


नक्सलियों द्वारा सेना पर हुआ हमला पूरी तरह से नियोजित था .....लेकिन क्या ऐसी चूक हुई की देश के सबसे बड़े हमले को रोका न जा सका ....सरकार ने नक्सल समस्या से निबटने के लिए भले ही अभी तक लाख कोशिशे की हो लेकिन इस वारदात से हकीकत सामने आ गई और सरकार की पोल खुल गयी....नक्सल समस्या को अगर सर्कार आतंकवाद की तरह देखेगी तो शायद ही आसानी से इससे निबटा जा सके .....वैसे तोः बातचीत के रस्ते अब बंद ही होते जा रहे हैं ऐसे में अब नक्सल समस्या को कैसे ख़तम किया जायेगा .....
भारत के लगभग २२ राज्यों में यह समस्या अपने पांव पसर चुकी ह...जिसमे युवा वर्ग अपनी भागीदारी दे रहा वहहै .....या ये कहना गलत न होगा की आने वाला समय और भी भयानक होने वाला वहहै जिसके लिए हम सभी तैयार रहे .......
७६ जवान को हम आज खो चुके हैं यानी एक जाने की कीमत १० लाख रुपया .....सरकार तो किसी भावनात्मक पहलु की तरफ ध्यान न देगी लेकिन जिसने अपना पति , और जिसने अपना बेटा खोया वहहै आखिर आज उसके पासक्या वहहै इस्सका जवाब .........हम तो खबर पढ़ कर भोल जायेगे लेकिन जिसने अपना सब कुछ खोया वहहै उसकी भर पाई कौन और कैसे करेगा ? यह सवाल हर हमले के बाद आता वहहै लेकिन हमले से पहले कभी नहीं ? साडी की साडी रणनीति बेकार हो जाती वहहै जब हम सफल नहीं होते ......आम जनता तो ऐसे ही मरती वहहै और मरती रहेगी लेकिन ऐसी समस्या की जिम्मेदारी कौन लेगा ? और हाँ क्या हम परिवारों के चिराग को वापस कर सकते वहहै ? सबसे महतवपूर्ण सवाल यही हैं ..सर्कार से हम अब क्या उम्मीद करें ? बार बार हमले होने क बाद भी जब सोई हुई वहहै ........कुलमिला कर एक जवान बराबर १० लाख अगर मिले तो क्यों की यह जरुर भी भी नहीं है ...

3 comments:

Udan Tashtari said...

बहुत दुखद घटना..सरकार से तो क्या उम्मीद की जाये.

mustkeem said...

सरकार के समझना चाहिए हम सरकार है औऱ देश के विकास में हमे ही सहयोग करना है ..............................

ttpian said...

why india is against tamil community?why india supported racist srilanka,which is cleaning up tamil community there?